नमस्कार ....!!आपका स्वागत है ....!!

नमस्कार ....!!आपका स्वागत है ....!!
नमस्कार ....!!आपका स्वागत है ....!!

16 July, 2010

वट-वृक्ष-15





अडिग अटल विराट -
वृक्षों का सम्राट ...!!
सदियों से -धरा पर मौन खड़ा  -
जीवन चलचित्र देखता -
यह वट वृक्ष ...!!!





घनी -घनी छायाहै इसकी -
आस्था सा पक्का चबूतरा -
आशा और विश्वास के-

कच्चे धागों से लिपटा ....!!

वक्त का चक्र चलते -चलते ,
कहाँ से कहाँ तक -------

पर कहता सदियों पुरानी-
अपनी वही कहानी .....

कैसे आज भी --
सुहाग की थाली सजाये -

नैनन में कजरा - माथे पे बिंदिया -
मांग में प्रियतम का सिन्दूर --

अपर्णा के साथ वटवृक्ष पूजन ...!
नाक में छोटी सी नाथ --
सर लिहाज़ से ढका हुआ --
अलबेली नार कर श्रृंगार--
सकुचाई सी खड़ी--
वट पूजने को ..........!!!!!

सावित्री का तप उज्जवल -सार्थक है ..
सत्यवान का सत्य -जीवन शाश्वत है ...!!!!

14 comments:

  1. randomly landed here......very nice post...description abt tree is also good.

    ReplyDelete
  2. सावित्री का तप उज्जवल -सार्थक है ..
    सत्यवान का सत्य -जीवन शाश्वत है ...!!!!

    सार्थक रचना .....!!

    ReplyDelete
  3. सावित्री का तप उज्जवल -सार्थक है ..

    wakai hai..mera drish vishwash hai isme

    sundar rachna

    ReplyDelete
  4. वटवृक्ष या वटसावित्री पूजा . हिंदू संस्कृति के कई प्रतीकों में से एक पर आपकी कलम चली . और प्रतीकों पर भी लिखें .

    ReplyDelete
  5. बहुत सुंदर भाव युक्त कविता

    ReplyDelete
  6. वक्त का चक्र चलते -चलते ,
    कहाँ से कहाँ तक -------
    पर कहता सदियों पुरानी-
    अपनी वही कहानी .....

    वटवृक्ष की कहानी कहती यह कविता बहुत अच्छी लगी।

    सादर

    ReplyDelete
  7. मनोहारी रचना..मोहित कर दिया आपने |

    ReplyDelete
  8. बहुत सुन्दर....
    बहुत अच्छी लगी आपकी ये रचना..

    सस्नेह.

    ReplyDelete
  9. बहुत ही अच्‍छी प्रस्‍तुति ।

    ReplyDelete
  10. आपकी किसी नयी -पुरानी पोस्ट की हल चल बृहस्पतिवार 02-02 -20 12 को यहाँ भी है

    ...नयी पुरानी हलचल में आज...गम भुलाने के बहाने कुछ न कुछ पीते हैं सब .

    ReplyDelete
    Replies
    1. आभार संगीता जी नयी-पुराणी हालचाल पर आपने मेरी कविता चुनी ...!!

      Delete
  11. मन -भावन रचना .हमारी आस्थाओं की सुन्दरता में लिपटी ,छाँह देती -सी !

    ReplyDelete

नमस्कार ...!!पढ़कर अपने विचार ज़रूर दें .....!!