नमस्कार ....!!आपका स्वागत है ....!!

नमस्कार ....!!आपका स्वागत है ....!!
नमस्कार ....!!आपका स्वागत है ....!!

04 February, 2013

शारदे माँ श्वेत वसने वंदना स्वीकार कर ....

शरदे माँ श्वेत वसने वंदना स्वीकार कर ....
हो रहे पद्भ्रांत सारे ...विश्व का उद्धार कर .....

इस बसंत में विश्व शांति के लिए की है प्रार्थना ....
आज आप को भी सुनाने का मन हुआ .....
बल्कि आइये मेरे साथ हम सब मिल कर माँ शरदे से यह प्रार्थना करें .....


इसे ईयर फोन पर सुनिएगा तब शब्द सही समझ मे आएंगे ....

32 comments:

  1. बहुत ही सुंदर बंदना,,लाजबाब गायन,,,बधाई,अनुपमा जी,

    RECENT POST बदनसीबी,

    ReplyDelete
  2. बहुत सुन्दर..वन्दना स्वीकार ही है..सुन्दर स्वरों का वरदान मिला है।

    ReplyDelete
  3. सुन्दर सी आवाज में सुन्दर वंदना
    सादर आभार !
    माँ शारदे को नमस्कार !

    ReplyDelete
  4. सुन्दर प्रस्तुति............. मेरे ब्लॉग पर भी स्वागत है www.sriramroy.blogspot.in

    ReplyDelete
  5. हेड फोन लगा कर ही सुना....
    :-)
    बहुत बहुत सुन्दर.....

    सादर
    अनु

    ReplyDelete
  6. आपकी इस उत्कृष्ट पोस्ट की चर्चा बुधवार (06-02-13) के चर्चा मंच पर भी है | जरूर पधारें |
    सूचनार्थ |

    ReplyDelete
    Replies
    1. बहुत आभार प्रदीप जी ...!!

      Delete
  7. शब्द, स्वर दोनों कमाल .... माँ कृपा बनी रहे आप रहे

    ReplyDelete
  8. माँ शारदे को नमन

    ReplyDelete
  9. माँ शारदा की कृपा बनी रहे !

    ReplyDelete
  10. वीणा की मधुर तान सी वन्दना..

    ReplyDelete
  11. बहुर सुन्दर वंदना और और प्यारा गायन भी.

    ReplyDelete
  12. अनुपमा जी, माँ शारदे से यही वन्दना आज की जरूरत है..गीत और संगीत का अनोखा संगम..बधाई!

    ReplyDelete
  13. भावनाओं का अनूठा संगम ... मनमोहक प्रस्‍तुति

    सादर

    ReplyDelete
  14. बेजोड़ सरस्वती वन्दना !!

    ReplyDelete
  15. बहुर सुन्दर वंदना और गायन प्रस्तुति..

    ReplyDelete
  16. बहुत सुन्दर.....स्वर और बोल दोनों.......!

    ReplyDelete
  17. बहुत सुन्दर सरस्वती वन्दना आपकी आवाज में सुन्दर वंदना ............

    ReplyDelete
  18. वाह माँ की वड़ी ही सुन्दर प्रार्थना है ।आभार इस सुन्दर कविता के लिए

    ReplyDelete
  19. मनमोहक प्रस्‍तुति,बहुत सुंदर.

    ReplyDelete
  20. ज्योत्स्ना शर्माFebruary 6, 2013 at 9:16 AM

    बहुत सुन्दर प्रस्तुति ....आराध्या और आराधिका को मेरा सादर नमन !!

    ReplyDelete
  21. संध्या जी बहुत आभार ब्लॉग वार्ता मे मेरी वंदना लेने के लिए ....!!

    ReplyDelete
  22. सुन्दर ... बहुत ही पवित्र गूँज ... मन को साधती है ...

    ReplyDelete
  23. bahut hi sundar...maine iske saath saath aapke youtube playlist ke kuch videos aur dekhe...:) :)

    ReplyDelete
  24. आभार आप सभी का ...हृदय से ...

    ReplyDelete
  25. बहुत बहुत बहुत ही सुन्दर ! माँ शारदे की इतनी मधुर और कर्णप्रिय स्तुति सुन मन विभोर हो गया अनुपमा जी ! सच में आपकी आवाज़ मन प्राण पुलकित कर देती है ! विलम्ब से आने के लिए क्षमाप्रार्थी हूँ !

    ReplyDelete

नमस्कार ...!!पढ़कर अपने विचार ज़रूर दें .....!!