नमस्कार ....!!आपका स्वागत है ....!!

नमस्कार ....!!आपका स्वागत है ....!!
नमस्कार ....!!आपका स्वागत है ....!!

13 July, 2011

My performance..singing GANESH VANDANA in Kualalumpur(Malaysia)


नमस्कार ...आपसभी के समक्ष गणेश वंदना से गाने की शुरुआत कर रही हूँ|प्रभु नमन ...!!उम्मीद है प्रभु कृपा होगी ....!!
आपसे निवेदन है इयर फोन लगा कर सुने ..तब ठीक लगेगा ...!!

43 comments:

  1. आज तो सुबह गणेश वंदना से हुई है बहुत सुदर गायन , बधाई

    ReplyDelete
  2. मनमोहक पावन स्तुति ...... बहुत सुंदर

    ReplyDelete
  3. वाह! सुबह सुबह गणेश वंदना सुन सुबह का श्री गणेश हो रहा है.
    मधुर,कर्णप्रिय अनुपम गायन से दिल प्रसन्नता से भर उठा.
    बहुत बहुत आभार आपका इस शानदार प्रस्तुति के लिए.

    ReplyDelete
  4. वाह ! वातावरण भक्तिमय और पवित्र हो गया.

    ReplyDelete
  5. सुन्दर और प्रभावी प्रस्तुति ||

    ReplyDelete
  6. subah subha bhakti ras aur aapki sundar gayan me doobi ganesh vandana..sach me aaj ka din kuch khaas ho gaya.aapko badhaai.

    ReplyDelete
  7. सुबह सुबह आपकी मधुर आवाज़ में गणेश वंदना सुनकर मन प्रफुल्लित हो उठा है! बहुत सुन्दर और मनमोहक गीत!
    मेरे नए पोस्ट पर आपका स्वागत है-
    http://seawave-babli.blogspot.com/
    http://ek-jhalak-urmi-ki-kavitayen.blogspot.com/

    ReplyDelete
  8. बहुत ही अच्छा लगा सुनकर.और आशा है अब आगे भी आपकी आवाज़ में ब्लॉग पर सुनने को मिलता रहेगा.

    सादर

    ReplyDelete
  9. सुनना शुरू किया था , पर कार्यालय में व्यवधान स्वाभाविक है . शाम फुर्सत से , तभी विस्तृत कमेंट भी .

    ReplyDelete
  10. बहुत सुन्दर ...आभार इस प्रस्तुति के लिए

    ReplyDelete
  11. बहुत मधुर गायन... आभार और बधाई !

    ReplyDelete
  12. आपकी किसी नयी -पुरानी पोस्ट की हल चल कल 14-07- 2011 को यहाँ भी है

    नयी पुरानी हल चल में आज- दर्द जब कागज़ पर उतर आएगा -

    ReplyDelete
  13. आपकी किसी नयी -पुरानी पोस्ट की हल चल कल 14-07- 2011 को यहाँ भी है

    नयी पुरानी हल चल में आज- दर्द जब कागज़ पर उतर आएगा -

    ReplyDelete
  14. बहुत सुन्दर..सुबह सुबह गणपति वंदना आपके स्वर में सुनकर बहुत अच्छा लगा.

    ReplyDelete
  15. Dik=l khush kar diya!
    main kisi riyaasat ki raani hoti to riyaasat aapke naam kar deti aaj !
    Behadd sundar !

    ReplyDelete
  16. गणेश वंदना सुनने के लिए शाम तक इन्तेजार करना पड़ा. अति सम्मोहक अनुभव था .सुन्दर गायन . स्वर में पोस्ट के लिए आभार .

    ReplyDelete
  17. lekan ke sath vadan bhi ,bahut hi sumadhur.......

    ReplyDelete
  18. भावमयी प्रस्तुति....आभार...

    ReplyDelete
  19. बहुत मधुर गायन । शुभकामनाएँ ।

    ReplyDelete
  20. अद्भुत! आप इतनी बडी कलाकार हैं, खबर ही नहीं थी!

    ReplyDelete
  21. सुन्दर प्राम्भ दिन का ... मधुर गायन ... कर्णप्रिय ... मीठी आवाज़ ...

    ReplyDelete
  22. बहुत ही बढि़या ...इस गणपति वंदना के लिये आभार ।

    ReplyDelete
  23. भक्तिपूर्ण मोहक स्तुति..बहुत सुन्दर

    ReplyDelete
  24. आपकी मेल के निमंत्रण पर फिर चला आया हूँ.
    एक बार फिर आनंद मग्न हो गया मन.
    आभार.

    ReplyDelete
  25. Gan ganpataye namah.
    Anupama ji ye to pata tha ki aap likhti achha hain...par itna achha gaatee bhi hain aaj hi jaana...
    bahut achha laga ganesh vandana sunkar...vighnansaashak aapke vighno ko aajeevan harte rahein...yahi unse prarthna hai...

    ReplyDelete
  26. आपकी मधुर आवाज़ में गणेश वंदना ....इस महत्वपूर्ण प्रस्तुति के लिए आपको हार्दिक बधाई।

    ReplyDelete
  27. प्रभु नमन ...आभार आप सब का ..कृपा दृष्टि बनाये रहें ...

    ReplyDelete
  28. सुन्दर प्रस्तुति.. यह गणेश वंदना मुझे वैसे भी बहुत पसंद है और आपकी सधी हुयी सुमधुर आवाज ने इसको और भी प्रभावी बना दिया.

    ReplyDelete
  29. सुमधुर , कर्ण प्रिय और मनमोहक . हम सुन रहे है .

    ReplyDelete
  30. bahut sunder aabhar aapka ......

    ReplyDelete
  31. आपकी सुमधुर मनमोहक वाणी में भक्ति पूर्ण श्री गणेश वंदन सुनकर मन अति प्रसन्न एवं भावपूर्ण हो उठा ....
    कोटि कोटि आभार एवं शुभकामनाएं !!!

    ReplyDelete
  32. वाह...आप तो बहुत कमाल का गाती हैं...मधुर वाणी है आपकी...और भी अपनी रचनाएँ सुनवाइये...

    नीरज

    ReplyDelete
  33. जी मैने स्पीकर्श से सुना तब भी बेहतरीन है
    बधाईयां

    ReplyDelete
  34. शुभ वंदना.... शुभ गायन....
    सादर शुभ प्रभात....

    ReplyDelete
  35. आपके सर पर माँ सरस्वती ने स्वयं हाथ रखा है...
    बहुत मधुर.
    बधाई.

    ReplyDelete
  36. bachpan mein sikhi hui ganesh vandana aaj aapki aawaaz me suni..apni music teacher shraddheya shrimati manju sundaram ji ki yaad aa gayi...gana bhul chuki hun..ab geet likhti aur gungunati hun..abhi khana banate hue ise suna..dhanyavaad...

    ReplyDelete

नमस्कार ...!!पढ़कर अपने विचार ज़रूर दें .....!!